Friday, July 19, 2024

1000 करोड़ कलेक्शन: बॉलीवुड के लिए पठान की वापसी कैसे बनी “दवा”

1000 Crore Collection : शाहरुख खान की दमदार एक्टिंग स्किल्स ने उन्हें लोगों के दिलों में खास जगह दिलाई है। उनका करिश्मा और प्रतिभा वर्षों से बरकरार है, और उनकी फिल्म पठान ने इंडस्ट्री में उनकी स्थिति को और भी मजबूत कर दिया है। फिल्म ने न केवल भारत में, बल्कि दुनिया भर में रिकॉर्ड तोड़े हैं और इस प्रक्रिया में सभी को चौंका दिया है।

अपनी आखिरी फिल्म जीरो के चार साल के अंतराल के बाद, शाहरुख खान ने पठान के साथ एक शक्तिशाली वापसी की है, जिसने दर्शकों के दिमाग पर एक स्थायी छाप छोड़ी है। यह फिल्म बॉलीवुड के बादशाह के रूप में उनकी स्थिति को मजबूत करते हुए उनके करियर की सबसे बड़ी हिट बन गई है।

- Advertisement -

पठान 25 जनवरी को रिलीज होने के बाद से ही बॉक्स ऑफिस पर धूम मचा रहा है और शाहरुख खान ने साबित कर दिया है कि वह अभी भी इंडस्ट्री में सर्वोच्च स्थान रखता है। ब्रेक के बाद वापसी करने वाले सभी सितारों में, शाहरुख खान सबसे अलग हैं और उन्हें सही मायने में बॉलीवुड का बादशाह कहा जाता है।

बॉलीवुड के लिए संजीवनी

पठान के साथ शाहरुख खान की बहुप्रतीक्षित वापसी बॉलीवुड के लिए संजीवनी साबित हुई है। लंबे समय से भाई-भतीजावाद और पक्षपात के चलन में फंसी इंडस्ट्री की छवि को इस फिल्म ने बदल कर रख दिया है। हालाँकि रणबीर कपूर, शिल्पा शेट्टी और आमिर खान जैसे अन्य बड़े सितारों ने भी वापसी की है, लेकिन कोई भी वैसा ऐतिहासिक प्रभाव पैदा करने में कामयाब नहीं हुआ जैसा शाहरुख खान ने पठान के साथ किया है।

100 करोड़ रुपये की जबरदस्त कमाई

- Advertisement -

इन 28 दिनों में शाहरुख खान की फिल्म पठान बार-बार नए रिकॉर्ड कायम करती नजर आई। यह तथ्य दिलचस्प है कि ये आंकड़े सिर्फ हिंदी बॉक्स ऑफिस के हैं। शाहरुख खान, दीपिका पादुकोण और जॉन अब्राहम अभिनीत पठान ने पहले दिन 50 करोड़ रुपये की कमाई की। तभी यह किंग खान की सबसे सफल ओपनिंग पिक्चर बन गई। वहीं पठान ने दूसरे दिन 100 करोड़ रुपये की जबरदस्त कमाई की है। पठान पहले ही केवल 28 दिनों में वैश्विक बॉक्स ऑफिस पर 1000 करोड़ का आंकड़ा पार कर चुकी है।

शाहरुख खान की वापसी

पठान के साथ शाहरुख खान की वापसी के प्रभाव को कम करके नहीं आंका जा सकता है। इसने बॉलीवुड में नई जान फूंकी है और फिल्म निर्माताओं और दर्शकों को समान रूप से आशा दी है। फिल्म की सफलता इस बात का प्रमाण है कि उद्योग में प्रचलित प्रवृत्तियों के बावजूद अच्छी कहानी कहने और मजबूत प्रदर्शन की हमेशा सराहना की जाएगी।

- Advertisement -

सम्बंधित ख़बरें

- Advertisment -

लेटेस्ट