पाइरेसी के खिलाफ बड़ी कार्रवाई, राम सेतु की रिलीज से पहले कोर्ट ने 20-से अधिक वेबसाइटों पर लगाई रोक

पाइरेसी के खिलाफ बड़ी कार्रवाई: बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री लंबे समय से मंदी का सामना कर रहा था। हालांकि उनकी परेशानी धीरे-धीरे कम होती दिख रही है। हालांकि, ऐसे कई मुद्दे हैं जिनकी वजह से इस क्षेत्र को हर साल अरबों रुपये का नुकसान होता है। हालांकि अभी तक पाइरेसी की वकालत करने वाली वेबसाइट पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है। हालांकि राम सेतु के निर्माताओं को कुछ अच्छी खबर मिली है।

दिल्ली उच्च न्यायालय ने अक्षय कुमार के प्रीमियर अभिनीत राम सेतु फिल्म के समक्ष अपना फैसला सुनाया। वास्तव में, अदालत ने राम सेतु की मेजबानी, स्ट्रीमिंग, डाउनलोडिंग और वितरण करने वाली 23 वेबसाइटों के खिलाफ फैसला सुनाया है। प्रस्तुत जानकारी के आधार पर 23 वेबसाइटों की सूची बनाई गई है। ये वेबसाइटें राम सेतु को डाउनलोड करने की अनुमति नहीं देती हैं। कॉपीराइट नियमों का उल्लंघन बिना प्राधिकरण के फिल्म देखना होगा।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Akshay Kumar (@akshaykumar)

- Advertisement -

 कोर्ट के मुताबिक, निर्माताओं ने फिल्म को बनाने और उसकी मार्केटिंग करने में लाखों रुपये खर्च किए। ऐसे मामले में, यदि वीडियो किसी भी रूप में वेबसाइट, मोबाइल या अन्य माध्यम पर निर्माता के प्राधिकरण के बिना वितरित किया जाता है, तो इसे अवैध माना जाएगा। अदालत ने ‘राम सेतु’ के लिए 23 वेबसाइटों तक पहुंच पर रोक लगा दी है। कोर्ट में मामले की दोबारा सुनवाई 20 फरवरी को होगी।

अक्षय कुमार की इस फिल्म में उनके अलावा जैकलीन फर्नांडीज और नुसरत भरूचा अहम भूमिका निभाएंगी। 25 अक्टूबर को फिल्म ‘राम सेतु’ सिनेमाघरों में रिलीज होगी। दिवाली से फिल्म को काफी फायदा होने वाला है। फिल्म के निर्माता भी दमदार डेब्यू की उम्मीद कर रहे हैं। फिल्म का ट्रेलर हाल ही में रिलीज किया गया था। जिसे फैंस का पॉजिटिव फीडबैक मिल रहा है।

- Advertisement -

सम्बंधित ख़बरें

- Advertisment -

लेटेस्ट