लेटेस्ट पोस्ट

Republic Day 2023: गणतंत्र दिवस परेड में पहली बार भारत में निर्मित हथियारों का प्रदर्शन किया जाएगा।

Republic Day 2023: गणतंत्र दिवस 2023 कई मायनों में एक अनूठा और यादगार अवसर होने वाला है। सबसे उल्लेखनीय परिवर्तनों में से एक यह है कि पहली बार 26 जनवरी को परेड के दौरान केवल भारत में निर्मित हथियारों का प्रदर्शन किया जाएगा। यह घरेलू स्तर पर निर्मित उत्पादों को बढ़ावा देने और उपयोग करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण बदलाव का प्रतीक है।

इसके अतिरिक्त, 21 तोपों की सलामी के लिए इस्तेमाल की जाने वाली पारंपरिक 25-पाउंडर तोप को 105 मिमी भारतीय फील्ड गन से बदल दिया गया है। इस आयोजन का एक और रोमांचक पहलू परेड मार्ग के साथ अग्निवीर और मिस्र की सेना की टुकड़ियों की भागीदारी होगी। इसके अलावा, समारोह में मुख्य अतिथि कोई और नहीं बल्कि मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फत्ताह अल-सिसी होंगे।

अग्निवीर को दिल्ली के कर्तव्य पाथ पर देखा जाएगा

स्वदेशी हथियारों के अलावा, गणतंत्र दिवस परेड में कई अन्य सामान शामिल होंगे, जिनमें से प्रत्येक अपने आप में अद्वितीय होगा। अग्निवीर इस बार दिल्ली के कर्तव्य पाथ पर नजर आएंगे। महिलाओं के अधिकार का प्रदर्शन करते हुए मिस्र की सेना की टुकड़ी, बीएसएफ ऊंट टीम, और नौसेना दस्ते को निर्देशित करने वाली महिला अधिकारियों का भी प्रतिनिधित्व किया जाता है। गणतंत्र दिवस परेड के बाद चार दशक से अधिक समय तक देश की सेवा करने वाले नौसेना के आईएल-38 विमान को सेवानिवृत किया जाएगा।

21 तोपों की सलामी

गणतंत्र दिवस परेड की 21 तोपों की सलामी में इस्तेमाल होने वाली 25 पाउंड की तोपों को भी इस साल बदला जाएगा। इसकी जगह 105 एमएम की इंडियन फील्ड गन का इस्तेमाल किया जाएगा। 25-पाउंडर तोप ब्रिटिश साम्राज्य में विकसित की गई थी और द्वितीय विश्व युद्ध में तैनात की गई थी। हालांकि इस भारतीय फील्ड राइफल को पिछले साल स्वतंत्रता दिवस पर प्रदर्शित किया गया था, लेकिन इसे पहली बार गणतंत्र दिवस पर शामिल किया जाएगा।

Latest Posts

Don't Miss