हथियारों की कमी से इजरायल के प्रधानमंत्री नेतन्याहू नाराज, अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन के समक्ष अपनी नाराजगी व्यक्त की

गाजा में चल रहे भीषण युद्ध के बीच इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के प्रति निराशा व्यक्त की है। नेतन्याहू ने बाइडेन प्रशासन पर आवश्यक गोला-बारूद और हथियार उपलब्ध कराने में विफल रहने का आरोप लगाया है।

अमेरिका को इजरायल का सबसे करीबी सहयोगी मानते हुए और युद्ध में उसके समर्थन की प्रशंसा करते हुए, नेतन्याहू ने पिछले कुछ महीनों में हथियारों की आपूर्ति में आश्चर्यजनक देरी की शिकायत की। 7 अक्टूबर से गाजा में इजरायली हमले लगातार जारी हैं। हमास को खत्म करने के अपने अभियान में, इजरायली सेना ने 37,000 से अधिक फिलिस्तीनियों को मार डाला है, जिनमें से कई महिलाएं और बच्चे हैं। इसने बाइडेन प्रशासन को चिंता में डाल दिया है, जिसके कारण मई से हथियारों की आपूर्ति में देरी हो रही है, जिसे नेतन्याहू अस्वीकार्य मानते हैं।

- Advertisement -

युद्ध विराम के लिए कई प्रयासों के बावजूद, सफलता नहीं मिली है। संयुक्त राज्य अमेरिका, मिस्र और कतर के नेता शांति के लिए प्रयास करना जारी रखते हैं। हालांकि, नेतन्याहू दृढ़ हैं, इजरायल के भीतर विरोध के बावजूद, हमास के नष्ट होने तक युद्ध जारी रखने पर जोर देते हैं। दूसरी ओर, हमास अपनी शर्तों पर युद्ध विराम का आह्वान कर रहा है।

युद्ध ने गाजा में फिलिस्तीनियों को भोजन, दवा और अन्य आवश्यक आपूर्ति भी रोक दी है, जो अब भुखमरी का सामना कर रहे हैं। हमलों में हताहतों के अलावा, कई लोग बीमारी और भूख से भी मर रहे हैं। इस भयावह स्थिति ने न केवल गाजा के भीतर बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी इजरायल के खिलाफ विरोध प्रदर्शन को जन्म दिया है। इजरायल की राजधानी यरुशलम में हजारों प्रदर्शनकारियों ने प्रधानमंत्री नेतन्याहू की नीतियों के खिलाफ नारे लगाए हैं।

- Advertisement -

सम्बंधित ख़बरें

- Advertisment -

लेटेस्ट