Friday, July 19, 2024

China-Pakistan: अमेरिकी जांच में खुलासा, चीन का पाकिस्तानी मीडिया पर नियंत्रित का इरादा!

पाकिस्तानी मीडिया में समाचारों को नियंत्रित करने के लिए "नर्व सेंटर" के निर्माण के संबंध में 2021 में चीन और पाकिस्तान के बीच चर्चा न केवल पाकिस्तान में बल्कि अन्य सहयोगी देशों में भी चीन के पक्ष में मीडिया को प्रभावित करने के लिए एक ठोस प्रयास का सुझाव देती है।

China-Pakistan: हाल ही में एक अमेरिकी रिपोर्ट में चौंकाने वाला दावा किया गया है, जिसमें बताया गया है कि चीन पाकिस्तान की मीडिया पर नियंत्रण स्थापित करना चाहता है। रिपोर्ट में आरोप लगाया गया है कि चीन पाकिस्तान और चीन के साथ जुड़े अन्य देशों में मीडिया को प्रभावित करने के उद्देश्य से एक अंतरराष्ट्रीय अभियान नेटवर्क स्थापित करने की प्रक्रिया में है। इसके अतिरिक्त, रिपोर्ट बताती है कि चीन सूचना प्रबंधन के क्षेत्र में, विशेष रूप से वैश्विक चुनौतियों और आलोचनाओं के जवाब में, रूस के साथ मिलकर सहयोग कर रहा है।

चीन ने आलोचना का जवाब देने की योजना बनाई है

- Advertisement -

पाकिस्तान में चीन की महत्वाकांक्षी चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (CPEC) परियोजना के खिलाफ आलोचना और कथित प्रचार के जवाब में, चीन ने सीपीईसी रैपिड रिस्पांस इंफॉर्मेशन नेटवर्क अभियान शुरू किया है। इस अभियान के तहत चीन और पाकिस्तान ने संयुक्त रूप से चीन-पाकिस्तान मीडिया कॉरिडोर लॉन्च किया है। इस मुद्दे पर 2021 में दोनों देशों के बीच चर्चा हुई और इस योजना में सीपीईसी से संबंधित पाकिस्तानी मीडिया में खबरों को नियंत्रित करने के लिए एक “नर्व सेंटर” का निर्माण शामिल है।

पाकिस्तान की मीडिया पर नियंत्रित क्यों चाहता है चीन?

अमेरिकी रिपोर्ट से पता चलता है कि चीन और पाकिस्तान कथित अफवाहों का मुकाबला करने और अनुकूल कथाओं को बढ़ावा देने के लिए एक मंच के निर्माण पर चर्चा कर रहे हैं। इसके अतिरिक्त, जनता की राय को अपने पक्ष में करने के लिए महत्वपूर्ण खबरों का उर्दू में अनुवाद करने की भी योजना है।

यह भी पढ़ें:  Chinese Submarine Accident: पीले सागर में चीन की परमाणु पनडुब्‍बी हुई हादसे का शिकार; 55 सैनिकों के मारे जाने की आशंका

पाकिस्तान के मीडिया प्रणाली में समाचार रिपोर्टिंग और विभिन्न मुद्दों पर सार्वजनिक आलोचना की निगरानी में चीनी दूतावास की भागीदारी शामिल है। रिपोर्ट में इस बात पर भी प्रकाश डाला गया है कि चीनी सरकार अपने पक्ष में सकारात्मक कहानी गढ़ने के लिए दुनिया भर में महत्वपूर्ण संसाधनों का निवेश कर रही है। ये प्रयास ताइवान, मानवाधिकार, दक्षिण चीन सागर और घरेलू अर्थव्यवस्था जैसे विषयों से संबंधित नकारात्मक खबरों को दबाने तक फैले हुए हैं।

- Advertisement -

सम्बंधित ख़बरें

- Advertisment -

लेटेस्ट